अविनाश वाचस्‍पति

विचारों की स्‍वतंत्र आग ही है ब्‍लॉग

107 Posts

253 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 1004 postid : 115

देखो जी अनशन टूट गया अन्‍ना का (व्‍यंग्‍य कविता)

  • SocialTwist Tell-a-Friend

पी एम भी हैं प्रसन्‍न
अन्‍ना भी हैं खुश
तोड़ने वाले हैं अनशन

पी एम ने बतलाया है
अभी अभी उनका संदेश
मेरे मोबाइल पर आया है

संदेश में लिखा है
कंप्‍यूटर प्रत्‍येक मर्ज की दवा है

टाइप करो CORRUPTION
कर्सर को वहीं मटकने दो
कंट्रोल प्‍लस ए दबाओ
फिर तुरंत डी दबाओ
कंट्रोल पर से
न ऊंगली हटाओ
देखना हुआ न चमत्‍कार
डिलीट हो गया
सारा भ्रष्‍टाचार

लेकिन इतनी जल्‍दी
मत खुश हो अन्‍ना
अभी रिसाइकिल में
जाकर बीन बजानी है
वहां से एम्‍पटी जगह
तुरंत खाली करानी है

उसके बाद न रहेगा भ्रष्‍टाचार
न मिलेगा करप्‍शन
चाहे करना सर्च
चाहे करना फाइंड
कितना ही लगाना माइंड

देखा मिट गया करप्‍शन
तोड़ दो अन्‍ना अपना अनशन

खाओ भरपेट राशन
अब मैं झाडूंगा भाषण
अगर नहीं आता कंप्‍यूटर चलाना
तो सीखकर आओ अन्‍ना, क्‍यों
इकट्ठा कर लिया है जमाना

जाओ अन्‍ना कंप्‍यूटर सीख कर आओ
यूं ही मत विश्‍वभर में कोहराम मचाओ
जाओ अन्‍ना कंप्‍यूटर सीख कर आओ

सारे विश्‍व का भ्रष्‍टाचार खुद अकेले मिटाओ
और सच कह रहा हं कि खूब ख्‍याति पाओ



Tags:       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (10 votes, average: 4.10 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Devraj Nagar के द्वारा
September 7, 2011

ये तो कमाल का पेज है.

वाहिद काशीवासी के द्वारा
August 26, 2011

अन्ना भाई, उन लोगों ने रिकवरी का सॉफ्टवेयर भी रखा है और ये बात छुपा कर रखी है।  चाहे रिसाईकिल में बीन बजायी हो या फोर्मैट का ढोल पीटा हो रिकवरी प्लस लगाते ही सब कुछ जस का तस वापिस आ जायेगा। सुन्दर व्यंग्य भरी कविता के लिए आभार और बधाई,

surendr shukla bhramar5 के द्वारा
August 26, 2011

जय हो अन्ना भाई -जय हिंद जय भारत अच्छा तरीका सिखाया अब तो संसद में जो ३.३० पर बहस होनी भी थी शायद टल जाए और अन्ना को फंड दिए जाएँ कम्पूटर पर भ्रष्टाचार मिटाओ घर बैठे खाओ जनता बेचारी को बीच में मत लाओ और उस टोकरी में घुसे रिसाईकिल बीन में पड़े रह जाओ अविनाश जी सुन्दर …व्यंग्य भ्रमर ५

Santosh Kumar के द्वारा
August 26, 2011

अविनाश जी ,..बहुत मजेदार तरीका इजाद कर लिया आपने ,..बहुत अच्छा ,. http://santo1979.jagranjunction.com/

chandrajeet के द्वारा
August 26, 2011

hum prasanna hue…..

abodhbaalak के द्वारा
August 26, 2011

क्या हाई टेक तरीका निकला हाई आपने भाई करप्शन को मिटाने का. सुन्दर समागम कम्यूटर और करप्शन का… http://abodhbaalak.jagranjunction.com/


topic of the week



latest from jagran